होमStonepanna stone benefits in hindi, पन्ना पत्थर से संबंधित सम्पर्ण जानकारी

panna stone benefits in hindi, पन्ना पत्थर से संबंधित सम्पर्ण जानकारी

- Advertisement -

पन्ना पत्थर Emerald Stone के फायदे और नुकसान जैसे सम्पूर्ण जानकारी दी गई है. Panna stone benefits in hindi.

पन्ना रत्न  बुध ग्रह पर आधारित एक प्रभावशाली पत्थर है यह पत्थर हरे रंग का होता है देखने में काफी सुंदर दिखाई देता है और इसे कई अलग-अलग नामों से जाना जाता है जैसे: पन्ना , मरकत मणि , जमरन और अंग्रेजी में Emerald, इस पत्थर को धारण करने से विभिन्न प्रकार के रोगों एवं समस्याओं से छुटकारा मिलती है. पत्थर के इसी गुण के कारण लोगों को अधिक रुचि रहती है।

आपको बता दें कि इस पत्थर का उपयोग प्राचीन काल से की जा रही है और भविष्य में भी की जाएगी. क्योंकि यह पत्थर काफी लाभकारी एवं गुणकारी पत्थर है यदि सही विधि अनुसार धारण किया जाए तो वर्तमान में चल रही समस्याओं से छुटकारा अवश्य मिल जाता है।

बजनेस व्यपारियो के पन्ना रत्न को धारण करना काफी शुभ मन जाता है व्यपार में लगी बाधा दूर हो जाती है तथा लक्ष्य की प्राप्ति होती है।

पन्ना रत्न के फायदे, Panna stone benefits in hindi

पन्ना रत्न धारण करने से मनुष्य की बुद्धि विकसित होती है और तीव्र गति से कार्य करता है मानसिक तनाव और मानसिक चिंताएं भी दूर हो जाती है तथा मन को शांत रखता है. खासकर उन लोगों के लिए अत्यधिक फायदेमंद है जिन लोगों के साथ घबराहट, चिंता, बेचैनी, डर जैसी समस्या हो।

इसके अलावा वाणी में मधुरता लाता है यदि आप ऐसी कार्य कर रहे हैं जिसमें बार-बार बोलना, अधिक बोलना हो, समझाना हो, बोल कर लिखना हो, कुल मिलाकर अधिक बोलना हो तो इस परिस्थिति में पन्ना स्टोन धारण करने की सलाह दी जाती है।

और यदि आप अधिक गुशा करते है लाल पीला हो जानते है और गुसे में अधिक बोल जाते है अब्शब्द बोल देते है तो इस परस्थिति में पन्ना स्टोन धारण करने से गुशा नियंत्रित हो जाता है और गुशा के कारण हो रही समस्य पूर्ण रूप से दूर हो जाती है।

 

पन्ना कौन सी राशि को पहनना चाहिए

यदि जातको के जन्म कुंडली में बुध ग्रह 6 , 8 , और 12 स्थान में हो तो जातको को पन्ना रत्नं अवश्य करनी चाहिए है. जन्म कुंडली में बुध सतवे भाव के सोवमी होकर घन स्थान में हो या बुध ग्रह परकर्म का अधिपति होकर दसवें स्थान में हो, 11 भाव के सोवमी होकर 6 स्थान में हो तो ऐसे जातको को पन्ना पत्थर धारण करने की सलाह दिया जाता है।

वृष, कन्या, तुला, मिथुन, एव कुंभ राशि वालो के लिए पन्ना रतन धारण करना काफी शुभ मना जाता है और मीन , धनु , सिंह राशि वाले जातको को उसके जन्म  कुंडली के अनुसार धारण करनी चाहिए। panna wiki

पन्ना रत्न किस उंगली में पहनना चाहिए

पन्ना रत्न को दाहिने हाथ के कनिष्ठ यानी छोटी अंगुली में धारण किया जाता है लेकिन कुछ परिस्थितियों में बाएं हाथ के कनिष्ठ उंगली मैं भी धारण किया जाता है.  आपको बता दें कि जब भी पन्ना रत्न को धारण करें तो धारण करने से पहले आप किसी ज्योतिष की सलाह अवश्य ले लें।

पन्ना रत्न कितने दिनों में असर दिखता है

आपको बता दे कि पन्ना रत्न 21 दिनों के अंदर असर दिखाना शुरू कर देता है लेकिन ज्योतिस विद्या के अनुशार 45 के अंदर पूर्ण रूप से पन्ना रतन के असर दिखाना शुरू हो जाता है वर्तमान में चल रही समस्या और परेसानियों में कमी होते देखा जा सकता है।

आपके गुसा आपके कंट्रोल रहेगा और आपके साथ जो भी समस्या है निरंतर कमी आई गई बोलने की छमता में वृद्धि होगी।

Panna stone के असली और नकली के पहचान

यह रत्न पाँच से छः क़्वालिटी में उपलब्ध है जिसे पहचान करना जितना आसान है उतना ही मुश्किल, आपके जानकारी के बतादू की पन्ना रत्न हरे रंग का होता है और हलका मुलयम होता है

यदि आप ऑरिजनल पन्ना को किसी कपडा पर हल्का रगड़ कर उस पर अंगुली फिसलाते है तो हल्का मुलायम और बहुत धीरे फिसलता है  जबकि डुबलीकेट रत्न पर कांच के समान अंगुली फिसलता है।

बता दे की यदि आप ऑरिजनल पन्ना रत्न ख़रीदना और धारण करना चाहते है तो आपके जानकारी के लिए की आप जब भी कोई रत्न ख़रीदे तो लेब रिपोर्ट के साथ खरीदे या किसी बड़े ज्योतिष से सलाह लेकर ही ख़रीदे।

  also read: Lahsuniya stone, लहसुनिया रत्न के फायदे और पहचान तथा धारण विधि 

पन्ना रत्न धारण करने की विधि panna stone benefits in hindi

panna stone धारण विधि के पहले जानते है कि पन्ना किस धातु में पहनना चाहिए , बता दे की पन्ना रत्न को पांच धातु में धारण करना शुभ मन जाता है

विधि- सबसे पहले पन्ना को पांच धातु से रिंग बनवाकर बुधवार के दिन प्रातः काल गंगा जल या गाय के दूध से पन्ना को स्नान बुध देव नमस्कार करे, रत्न को धारण करते समय 108 बार मंत्र का जाप करे. बुध देव का मन्त्र इस प्रकार से है  (ॐ बूम बुधाय नमः ) 108 बार इस मंत्र का जाप करे। panna stone benefits in hindi

Notice . इस रत्न को खरीदने और धारण करने से पहले आप किसी लेब या ज्योतिष के सलाह से ही ख़रीदे, यह जानकरी मान्यता के अनुशार लिखी गई है todayrashifal.in किसी भी प्रकार के जिम्मेदारी नहीं लेती।

Exit mobile version